Difference between Yoga and exercise योग एवं व्यायाम में अंतर

Difference between Yoga and exercise

पहले लोग कहते थे कि रोज व्यायाम exercise करना चाहिए शरीर के उत्तम स्वास्थ्य के लिए यह बेहतर होता है । लेकिन अब लोग कहते है रोज योग yoga करना चाहिए आखिर यह ट्रेड क्यो बदल गया ?

पहले डॉक्टर कहते थे आप व्यायाम exercise करें या जिम gym जाए आजकल डॉक्टर स्वयं भी योग yoga करते है और मरीजो को भी योग करने के लिए प्रेरित करते है ।

Difference between Yoga and exercise in hindi-

आखिर योग में ऐसा क्या है जो ऊसर व्यायाम या अन्य एक्सरसाइज से इतना अधिक लोकप्रिय बनाता है । इनके बीच के अंतर को समझना बेहद जरूरी है ।

आज के दौर में दवा का कारोबार बहुत फल फूल रहा है आखिर क्यों कमाई का बड़ा हिस्सा दवा कम्पनियों की झोली में जा रहा है ?

इसका बड़ा कारण है अनियंत्रित अनियमित दिनचर्या dailyroutin एवं जीवन शैली के कारण अलग अलग बीमारियों ने हमे घेर लिया है ।

ऐसे में लोग खुद को स्वास्थ्य रखने के लिए योग एवं व्यायाम अपनाते है तो कुछ लोग बीमारी के बाद डॉक्टर की सलाह से मजबूरी में योग अपनाते है ।

Yoga and Vyayam-

  • सबसे बड़ा अंतर है कि व्यायाम केवल शारीरिक स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है । लेकिन योग मानसिक ,शारिरिक ,
    आध्यात्मिक ,भावनात्मक स्वास्थ्य पर भी गहरा असर छोड़ता है ।
  • व्यायाम में साँसों पर कोई ध्यान नही दिया जाता है सांसे ऊपर नीचे होने पर भी केवल गति पर ही ध्यान दिया जाता है लेकिन योग में स्थिरता के साथ साँसों का बेहद महत्व है बिना साँसों के सही प्रयोग के योग करना उतना लाभदायक नही होता ।
  • हर आसान में कहां पर पूरक करना है कहाँ रेचक करना है कहाँ कुम्भक करना है इसी पर विशेष ध्यान दिया जाता है ।
  • व्यायाम शरीर के बाहरी भाग पर ही प्रभाव ज्यादा डालता है जबकि योग शरीर को अंदर से मजबूत बनाता है साथ ही योग शरीर के लचीलेपन को बढ़ाता है ।
  • चित्त को नियंत्रण में करना और मन को चंचलता से मुक्त कर शून्य पर ध्यान केंद्रित करना योग कहलाता है । जबकि व्यायाम में सिर्फ और सिर्फ बाहरी शरीर पर ध्यान दिया जाता है ।
  • योग धैर्य के साथ किया जाता है रुक रुक कर शरीर को पर्याप्त आराम देकर किया जाता है ताकि शरीर को चोट न पहुंचे किसी तरह की हड्डियों में चोट न लगे जबकि व्यायाम में ऐसा कुछ ध्यान नही रखा जाता है ।
  • व्यायाम करने से भूख अनियंत्रित हो जाती है जबकि योग करने से भूख पर नियंत्रण बना रहता है ।
  • योग में यम नियम का बहुत महत्व है जबकि व्यायाम में यम नियम का कोई उल्लेख नही है । तीव्रता के कारण व्यायाम करने वाला थक जाता है जबकि योग में रिलेक्स होकर आसान किये जाते है इस कारण योग में थकान नही होती है ।
  • एक्सरसाइज के लिए संसाधनों की आवश्यकता होती है लेकिन योग में सिर्फ आसान की जरूरत पड़ती है ।
  • बीमार से बीमार व्यक्ति योग कर सकता है लेकिन व्यायाम के लिए स्वास्थ्य होना बेहद जरूरी है ।
  • योग किसी भी उम्र का व्यक्ति कर सकता है लेकिन व्यायाम अधिकांश युवाओ में ही लोकप्रिय रहता है ।

व्यायाम के प्रकार Types of exercise-

मुख्यतः व्यायाम 3 प्रकार के होते है

नमयक व्यायाम-

जिसमे स्ट्रेचिंग आती है जिसमे शरीर के भागों को दवाब डालकर खींचा जाता है।

एरोबिक व्यायाम-

इसके अंतर्गत मुख्य रूप से साइकिल चलाना, तैराकी, घूमना, दौड़ना आदि आते हैं।

एनारोबिक व्यायाम-

इसके अंदर वजन उठाने वाले एक्सरसाइज को लिया गया है ।

योग के प्रकार Types of yoga

जबकि योग क्लास में सूक्ष्म व्यायाम ,योग आसान ,ध्यान, प्राणायाम आदि को शामिल किया जाता है । योग रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाकर शरीर को रोगों से बचाता है ।

व्यायाम में इंजरी होने के डर बहुत अधिक होता है जबकि योग में इंजरी होना नामुमकिन है । योग के रोग निवारक और उपचारात्मक दोनों फायदे हैं ।

योग आपकी एकाग्रता को बढ़ाता है जो कि आपको अपने कार्यक्षेत्र में भी मदद करता है । योग में किसी भी तरह का दाब या तनाव दिये बगैर अभ्यास करने वाले योग साधकों को ऊर्जा से लबरेज कर देती है।,

योग आसान गहरी सांस लेने, उसका सही पोज में जाकर स्तंभन (रोकने) करने और मांसपेशियों के संकुचन-फैलाव के जरिये शरीर की कोशिकाओं में पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन भेजने का काम करता हैं। योग लचीलेपन के साथ साथ सन्तुलन को भी बढ़ाता है ।

योग में अनुशासन का बहुत महत्व है ।

महत्वपूर्ण प्रश्न-

योग क्या होता हे. what is yoga

Difference between Yoga and gym in hindi

लेखन -: योगाचार्य डॉ.मिलिन्द्र त्रिपाठी (योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा विशेषज्ञ )

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top