शुगर पेशेंट के लिए [उपयोगी] योग –

शुगर पेशेंट के लिए योग,Yoga for daibetes

शुगर जिसे हम शक्कर की बीमारी या डायबिटीज के नाम से जानते है । यह अनेक बीमारियों की जननी है । शुगर के मरीज का जीवन बहुत ही दुखदायी हो जाता है । शुगर पेशेंट के लिए योग वरदान साबित हो सकता हे.मधुमेह को हम योग से आसानी से खत्म कर सकते हे.

शुगर पेशेंट के लिए योग yoga for diabetes –

आइए जानते हे शुगर पेशेंट के लिए 12 योग जिसके साथ सूर्य नमस्कार का नियमित अभ्यास करें ।

  • 1.पवनमुक्तासन
  • 2.उत्तानपादासन
  • 3.सुप्त मत्स्येन्द्रासन
  • 4.वज्रासन
  • 5.धनुरासन
  • 6.पश्चिमोत्तानासन
  • 7.सेतुबंधासन
  • 8.बलासन
  • 9.सर्वांगासन
  • 10.चक्रासन
  • 11.अर्धमत्स्येन्द्रासन
  • 12.मंडूकासन
  • 13.नौकासन
  • 14.शवासन

शुगर पेशेंट के लिए प्राणायाम-

शुगर को कंट्रोल करने एवं शुगर से निजात पाने के लिए किए जाने वाले योग आसान एवं प्राणायाम

  • कपालभाति
  • भ्रामरी
  • भ्रस्रिका प्राणायाम

शुगर क्या हे what is diabetes?

मधुमेह के मरीजो के खून में शर्करा का स्तर बढ़ जाता है। डायबिटीज के कारण व्यक्ति का अग्न्याशय (Pancreas) पर्याप्त इंसुलिन का उत्पादन नहीं करता ।

डायबिटीज के रोगी के शरीर में इन्सुलिन बनना बंद या कम हो जाता है । डायबिटीज एक मेटाबॉलिक डिसऑर्डर होता है। उच्च रक्त शर्करा के के पीढ़ितों में सबसे बड़ा लक्षण होता है कि उन्हें अक्सर ज्यादा पेशाब आने लगती है । , प्यास और भूख में वृद्धि होती है।


शुगर की बीमारी से पीढित लोगो के लिए हेल्थ एक्सपर्ट्स का कहना है कि डाइट में बदलाव करने से बहुत जल्द डायबिटीज ठीक हो सकती है। भारत में कुल मिलाकर 8 करोड़ से ज्यादा लोग डायबिटीज से पीड़ित हैं

हर साल डायबिटीज के इलाज पर अकेले भारत में 63000 करोड़ रुपये से ज्यादा का खर्च होता है । नोरडिस्क एजुकेशन फाउंडेशन की तरफ से किए गए देश व्यापी सर्वे में पता चला है कि मई 2019 में ऑल इंडिया में HbA1c
का स्तर 8.5 % था।

इससे औसत ब्लड शुगर कंट्रोल लेवल की जानकारी मिलती है। जबकि इसका सामान्य स्तर 6 % ही होना चाहिए यह बेहद चिंताजनक आंकड़ा है ।

सबसे बड़ी बात यह है कि अमीरों की बीमारी कहि जाने वाली शुगर अब गरीबो की भी अपनी गिरफ्त में ले रही है । शुगर से पीड़ित 47.5 फीसद लोगों को अपनी बीमारी के बारे में पता ही नहीं होता जिससे चलते वो इसके इलाज पर भी ध्यान नही दे पाते है ।

क्यों होती शुगर की बिमारी –

  • अनुवांशिक
  • अनुचित आहार-विहार
  • बिल्कुल योग या व्यायाम न करना
  • शारीरिक श्रम से दूर भगाना
  • अत्यधिक तनाव आदि ।

आवश्यक सलाह जो बीमारी से लड़ने में है मददगार -:


चिकित्सकों के अनुसार रोगी स्वस्थ खान-पान अपनाकर और शारीरिक रूप से सक्रिय रहकर रक्त ग्लूकोज लेवल को नियंत्रण में रखा जा सकता है ।


डायबिटीज के मरीज को ज्‍यादा कार्बोहाइड्रेट, फैट और चीनीयुक्‍त मीठे पदार्थ से परहेज रखना चाहिए । दिनभर में टुकड़े टुकड़े में भोजन करना चाहिए । शुगर पेशेंट के लिए योग करना फायदेमंद हे.

शुगर के मरीज के लिए डाइट Diet plan for diabetes-

शुगर के मरीज की डाइट इस तरह की हो -:

  • डायबिटीज के रोगी के भोजन में 60 % कार्बोहाइड्रेट, वसा 20% व 20 % प्रोटीन होना चाहिए।
  • नियमित भोजन में दो मौसमी फल व तीन तरह की सब्जियाँ जरुर शामिल रखनी चाहिए ।
  • मांसाहारी भोज्य पदार्थों से दूर रहना चाहिए ।
  • सुबह 6 बजे से 7 बजे के मध्य खाली पेट कुछ पेय पदार्थो का सेवन करना है ।
  • Morning Diet plan for diabetes

सुबह 6 बजे गुनगुने पानी मे आधा चम्मच मेथी पाउडर डालकर पिये । यदि सुबह मेथी दाने का पानी नही पी सकते तो जौं को गलाकर सुबह उसके पानी को छानकर पी सकते है ।

सुबह 6.15 पर खाली पेट ही भिंडी का पानी पीना बहुत लाभदायक है । भिंडी को बारीक काटकर उसे आधे घंटे के लिए पानी में गलाकर रखें। फिर इस पानी को छानकर पीना बहुत लाभदायक है ।

सुबह 6.30 बजे 15 निम के पत्तो को धोकर मिक्सर में पीसकर उसका पेस्ट बनाकर उसमें एक गिलास पानी मिलाकर उसमे आधा चम्मच नींबू डालकर इस पेस्ट को छानकर एक गिलास में लेकर उसे पीना है ।

दिन भर में 8-10 गिलास पानी अवश्य पिये । साथ में नारियल पानी, नींबू पानी, छाछ, आदि भी बहुत फायदेमंद।

शुगर के मरीजो के लिए सरसों के तेल, कैनोला और जैतून का तेल बेहद फायदेमंद होता है ।

सुबह 8 से 9 के बीच नाश्ते में एक कटोरी अंकुरित अनाज एवं बिना मलाई एवं शक्कर वाला दूध पी सकते है ।

10 से 11 बजे के बीच या दोपहर के भोजन से पहले एक अमरुद, सेब, संतरा या पपीता जरूर खाएँ।

11 बजे से 12 बजे के बीच दो रोटी, एक कटोरी दाल, एक कटोरी करेले की सब्जी , एक दही (बिना शक्कर )तथा एक प्लेट सलाद खाये । सलाद में जामुन ,अमरूद ,नाशपती को नियमित शामिल करें ।

ध्यान रहें जो रोटी बनाई जा रही है उसमे मिक्स आटे का उपयोग करें । गेहूँ और जौ 2-2 किलो की मात्रा में लेकर एक किलो देशी चने के साथ पिसवा लें ।

रोटी बनाने के लिए इस मिक्स आटे के साथ सामान्य आटे का प्रयोग करें एवं 25 ग्राम अलसी को पीसकर आँटे में गूथकर रोटी बनाएँ।

  • Afternoon Diet plan for diabetes

दोपहर 2 बजे से 3 बजे के मध्य प्रतिदिन एक या आधा सेब जरूर खाना चाहिए। सेब एन्टीऑक्सिडेंट का स्त्रोत है। यह कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करता है एवं पाचन तंत्र के लिए फायदेमंद है ।

शाम 4 बजे चाय की जगह नारियल पानी या ग्रीन टी पिये ।

शाम 6 से 7 के बीच रात का भोजन करना फायदेमंद है। दो रोटी और एक कटोरी रसेदार सब्जी खाना फायदेमंद है। सलाद में जामुन ओर करेला अवश्य खाना चाहिए ।

  • Night Diet plan for diabetes

रात सोने के पूर्व एक गिलास गर्म दूध में एक चौथाई चम्मच हल्दी डालकर पिएँ।

शुगर पेशेंट के लिए फल foods for diabetes

शुगर के मरीजो को अंगूर, चेरी, अनानास, केला, सूखे मेवे और मीठे फलों के ज्यूस से परहेज करना चाहिए ।

वही सब्जियों के रूप में करेला, मेथी, सहजन, पालक, तुरई, शलगम, बैंगन, टिंडा, चौलाई, परवल, लौकी, मूली, फूलगोभी, बोकली, टमाटर, बंदगोभी, सोयाबीन की बड़ी

काला चना, बीन्स, शिमला मिर्च, हरी पत्तेदार सब्जियाँ का सेवन करना चाहिए । इन्ही सब्जियों के सुप को लिया जा सकता है ।

शुगर के कारण कमजोरी हो जाने पर उसे दूर करने के लिए कच्चा नारियल, अखरोट, मूंगफली के दाने, काजू, इसबगोल, सोयाबीन, दही (बिना शक्कर) और छाछ आदि का सेवन करें।

लेखन -: योगाचार्य डॉ.मिलिन्द्र त्रिपाठी (योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा विशेषज्ञ )

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top