yoga for hair fall cantrol in hindi झड़ते बालो के लिए योग

yoga for hair fall cantrol,झड़ते बालो के लिए योग

आधुनिक समय मे लोगों की जीवनशैली और खान-पान बुरी तरह प्रभावित हुआ है । इसका सीधा असर बालों पर पड़ता है। बाल झड़ना hair fall बड़ा ही खतरनाक हो सकता है जब बाल अधिक मात्रा में झड़ने लगें । अगर आप के बाल झड़ने से रोकने cantrol के लिए अपनाए घरेलू उपाय एवं योग yoga for hair fall

yoga for hair fall cantrol झड़ते बालो को रोकने के लिए योग -:

  • शीर्षासन
  • पवनमुक्तासन
  • सर्वांगासन
  • अधोमुख शवासन
  • उत्तानआसन
  • वज्रासन
  • दंडासन
  • पूर्वोत्तानासन
  • हलासन
  • पश्चिमोत्तानासन
  • जानु शीर्षासन
  • उष्ट्रासन

झड़ते बालो को रोकने के लिए प्राणायाम-

  • कपालभाति
  • नाड़ी शोधन
  • भस्त्रिका
  • अनुलोम विलोम

Weight loss:वजन कम करने के लिए diet plan एवं Yoga (diet chart )

बालो को झड़ने से रोकने के लिए प्राकृतिक चिकित्सा एवं घरेलू उपाय -:

  • प्याज के रस को एक कटोरी में लेकर सोने से पहले बालो की जड़ो में मालिश करना बेहतर उपाय है । क्योंकि प्याज के रस में सल्फर की मात्रा होती है, ये सिर के टिशु में मौजूद कोलाजेन के उत्पादन को बढ़ावा देते है। प्याज बालों का झड़ना रोकने में बहुत मददगार होता है । घर घर प्याज मिलना आसान होता है यह एक बेहद सस्ता उपाय है ।
  • करी पत्ते में एमीनो एसिड, एंटीऑक्‍सीडेंट और अनेक जरूरी पोषक तत्‍व होते हैं जो बालों की ग्रोथ को उत्तेजित करते हैं और बालों को मजबूत कर झड़ने से रोकते हैं। करी पत्ता से बाल काले और चमकदार होते हैं। आधा कप नारियल तेल को गर्म करें और उसमें आधा कप करी पत्ता डालें। इसे 15 मिनट तक उबालकर ठंडा होने दें और छानकर इस तेल से हफ्ते में तीन बार बालों की मालिश करें।
  • हर दिन कुछ मिनटों के लिए नारियल या सरसो के तेल से सिर की मसाज नियमित करना चाहिए, इससे सिर में रक्त प्रवाह तेज करने में मदद मिलती है । रक्त प्रवाह सही होने से बालों को झड़ने से रोकने में मदद मिलेगी । साथ ही केश कूप भी सक्रिय रहते है।
  • ग्रीन टी पीने में जितनी फायदेमंद है उतनी ही उसको सिर में लगाने पर भी फायदा नजर आता है । ग्रीन टी को एक कप पानी में मिलाकर अपने सिर में लगा लें और इसे करीब एक घंटे तक छोड़ दें। जब सिर में यह लैप लगा हो तब सिर को पन्नी से कवर करके रखें । ग्रीन टी में एन्टीऑक्सिडेंट होता है जो बालों झड़ने से रोकने में मदद करते हैं।
  • आंवला बालों के प्राकृतिक और तेज़ी से विकास के लिए बहुत कारगर ओषधि है , आप आंवले का उपयोग नियमित कर सकते हैं। आपके भोजन में यदि आंवला शामिल है तो यह आपके बालों के लिए अमृत के समान है । आंवला में विटामिन सी प्रचुर मात्रा में होता है, जिसकी शरीर में कमी बालों को गिरने का एक कारण हो सकती है।इसकी पूर्ति होने से बाल झड़ना बंद हो जाते है ।
  • नीम और बेर के ताजा पत्तों को पानी में खूब देर तक उबालें। इस पानी को ठण्ड़ा करके इससे सिर के बाल धोयें और बाद में नीम के तेल का प्रयोग कर बालो की जड़ो में हल्के हल्के हाथ से मालिश करें । इससे बालों का झ़ड़ना बन्द हो जाता है।
  • आसानी से उपलब्ध हो जाने वाले मेथी के बीज में हार्मोन अंटेसीडेंट होते हैं । जो बालों को विकसित करने में और बालों के रोम के पुनर्निर्माण में मदद करते हैं।
  • एलोवेरा में ऐसे एंज़ाइम होते हैं जो बालों के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है ।
    इसके अलावा, एलोवेरा अपने एल्कलाइन गुण के कारण बालों के पीएच स्तर को सही रखता है ।
  • दही और नींबू का प्रयोग कर एवं गर्म तेल की बालो की जड़ो में हल्की हल्की मालिश से बालों का झड़ना और रूसी (डैंड्रफ) की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं। यह प्राकृतिक मॉश्चराइज़र के तौर पर काम करता है । खोपड़ी के संक्रमण को भी दूर करने में मदद करता है ।
  • नारियल के तेल में कपूर मिलाकर बालों की जड़ो में मालिश करना भी बेहतर उपाय माना गया है ।
  • अपने बालों को नीम के पत्तों के पानी से नियमित धोएं। बालों को हफ्ते में दो या तीन बार धोकर साफ रखें ।
  • आप चाहे तो केमिकल युक्त शैंपू के स्थान पर आंवला, रीठा, शिकाकाई​ से अपने बालों को धोएं। रोजाना सुबह खाली पेट आंवला और एलोवेरा का जूस पिएं।

बाल झड़ने के कारण -:

अनियमित जीवन शैली ,पोषक तत्वों से रहित भोजन ,पोषाहार समस्या विशेषकर प्रोटीन, जिंक, बायोटीन की कमी,हार्मोन स्तर में आकस्मिक बदलाव,दवाओं का दुष्प्रभाव ,अनुवांशिकी कारणों से भी बाल झड़ते है तनाव बाल झड़ने का बड़ा कारण होता है

नमक का अधिक सेवन करना भी बाल झड़ने का बड़ा कारण है । अधिक योग करना भी बाल झड़ने का कारण हो सकता है ।

जब बाल अधिक मात्रा में झड़ने लगें ऊपर से तेजी से फैलता प्रदूषण और बालो के तेल ,शैंपू, डाई में इस्तेमाल होने वाले केमिकल के कारण भी बालों पर विपरीत असर पड़ता है, जो बाद में बालों के झड़ने hair fall का बड़ा कारण बन जाता है।

टूटते बाल चिंता का कारण होते है या यूं कहें कि चिंता के कारण ही बाल टूटते है तो गलत नही होगा ।

आयुर्वेदिक विशेषज्ञों का कहना है कि -:

वात के साथ मिला पित्त रोमकूपों (बालो की जड़ में )में जाकर बालों को गिरा देता है तथा इसके अनन्तर रक्त के साथ मिला हुआ कफ रोमकूपों (बालो की जड़ो )को बन्द कर देता है जिससे उस स्थान में दूसरे बाल नही उग पाते है ।

hair fall को yoga के माध्यम से cantrol किया जा सकता हे

बड़ी मात्रा में अपने बालों को जब गिरता हुए इंसान देखता है तो पहला सवाल उसके सामने आता है कहि वो गंजा न हो जाये । गंजे पन से हर व्यक्ति डरता है गंजापन उसे बुढापे की निशानी लगती है ।

बाल चले जाने के बाद लोग वीक पहनते है ताकि लोग उन्हें गंजा नही कह सकें । जब वक्त आपके हाथ मे है तो बालो की केयर कर लीजिए कल को यदि बाल एक बार झड़ने शुरू हो गए तो फिर मुश्किल होगा उन्हें फिर से उगाना ।

महंगे इलाज कराकर गंजे पन से मुक्ति से अच्छा है आज ही बालो को संभाल लें । बाल सफेद है तो काम चल जाता है काला कलर करके काम निकल जाता है लेकिन बाल खत्म हो जाये तो शर्मिंदगी महसूस होती है ।


बालों के गिरने के समस्या को प्रारम्भ में लोग नजरअंदाज करते हैं, वो सोचते है थोड़े बहुत बाल गिरना आम बात है लेकिन थोड़े थोड़े करके इतने बाल गिर जाते है कि हमारा गंजापन नजर आने लगता है ।

इस ओर गम्भीरता से ध्यान नही देने के कारण सही समय पर इसका इलाज नहीं हो पाता है। बाल झड़ने से रोकने के उपायों को जल्द जल्द से अपनाने की जरूरत होती है।

लेकिन बहुत कम लोग इस ओर ध्यान दे पाते है । एक सामान्य प्रक्रिया के तहत 50 से 100 बाल लगभग हर दिन टूटते-झड़ते है । लेकिन 20 से ज्यादा बाल रोज झड़ना या रोज अधिक मात्रा में बाल झड़ना तो ये गंजेपन का विषय है।

लगभग 30 साल की उम्र तक पहुंचने पर यह समस्या शुरू होती है उसके पहले यदि इस तरह की समस्या हो तो तुरन्त चिकित्सकीय सलाह लेना आवश्यक है ।

लेखन -: योगाचार्य डॉ.मिलिन्द्र त्रिपाठी (योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा विशेषज्ञ

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top