yoga sport: योगासन को प्रतिस्पर्धी खेलों के रूप में मान्यता मिली

yoga sport

खेल मंत्रालय ने हाल ही में योगासन yoga को प्रतिस्पर्धी खेल sport के रूप में औपचारिक तौर पर देशभर में मान्यता दे दी जिससे इसे सरकारी सहायता मिल सकेगी। सरकार इसे बढ़ावा भी देगी और हम भी हमेशा से योग को बढ़ावा दे रहे हे.

आज सरकार की इस योजना से हमे दोगुना फयदा होगा अगर आप यह जानना चाहते हो तो पढना जारी रखिए

योगासन को प्रतिस्पर्धी खेलों के रूप में मान्यता मिलना एक ऐतिहासिक फैसला है –

इस योजना से हमे दोगुना फयदा होगा क्यों yoga करने से स्वास्थ्य तो बेहतर होता हे साथ ही सरकार हमे बढ़ावा देगी.

योग yoga को प्रतिस्पर्धी खेल sport के रूप में मान्यता मिलने से देशभर में हर साल हजारों खिलाड़ी तैयार हो सकेंगे इससे नए रोजगार का भी सृजन होगा ।

खेल मंत्री किरेन रीजीजू और आयुष मंत्री श्रीपाद येस्सो नाईक ने दिल्ली में साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान योगासन को प्रतिस्पर्धी खेल के रूप में मान्यता दी।

रीजीजू ने कहा ,‘‘ भारत में योगासन लंबे समय से प्रतिस्पर्धी खेल है। लेकिन इसे भारत सरकार से मान्यता मिलने की जरूरत थी । ताकि यह आधिकारिक तौर पर एवं मान्य प्रतिस्पर्धी खेल बन सके।’’ उन्होंने कहा ,‘‘ आज बड़ा ही ऐतिहासिक एवं स्वर्णिम दिन है और हम योगासन को प्रतिस्पर्धी खेल के तौर पर औपचारिक रूप से पूरे देश मे लांच कर रहे हैं। ’’

नेशनल योगासन स्पोर्ट्स फेडरेशन NYSF


इसके लिए भारत सरकार द्वारा नेशनल योगासन स्पोर्ट्स फेडरेशन का भी गठन किया गया जिसे पिछले महीने खेल मंत्रालय ने राष्ट्रीय खेल महासंघ के तौर पर मान्यता दी।

रीजीजू ने कहा कि खेल मंत्रालय इस राष्ट्रीय महासंघ को पूर्ण वित्तीय सहायता देगा ताकि आने वाले साल के लिये यह शानदार योजना बना सके एवं उनका सफलता पूर्वक क्रियान्वयन कर सकें ।

खेलो इंडिया khelo india-

खेलमंत्री ने कहा कि योगासन को भारत सरकार की महत्वाकांक्षी योजना खेलो इंडिया khelo india कार्यक्रम का भी हिस्सा बनाया जायेगा।

उन्होंने कहा ,‘‘ इसकी लोकप्रियता भारत में तेजी से बढेगी और इसे खेलो इंडिया स्कूल तथा यूनिवर्सिटी कार्यक्रम में शामिल किया जायेगा।’’ प्रतिस्पर्धाओं के लिये चार खेलों और सात वर्गों में 51 पदक प्रस्तावित हैं।

योग स्पोर्ट्स को बढ़ावा-

योग स्पोर्ट्स को बढ़ावा देने के साथ साथ सरकार पारम्परिक तथा आधुनिक योगासनों को भी इसमें शामिल कर रही है । इनमें योगासन, कलात्मक योग (एकल व युगल), लयबद्ध योग (एकल, समूह), व्यक्तिगत हरफनमौला चैम्पियनशिप और टीम चैम्पियनशिप शामिल है।

अगले साल फरवरी में राष्ट्रीय व्यक्तिगत योगासन खेल चैम्पियनशिप का भी प्रस्ताव है।
NYSF के राष्ट्रीय महासचिव डॉ जयदीप आर्य जी एवं उनकी समिति द्वारा योगासन के उत्कृष्ट परिणामो के लिए देशभर मे प्रदेश एवं जिला इकाइयों के गठन का कार्य तेजी से प्रारंभ कर दिया गया है।

उनका कहना है जब तक हम देश के हर राज्य एवं जिले तक नही पहुच जाते तब तक यह मुहिम चलती रहेगी। हमारा उद्देश्य देश के उत्कृष्ठ योगासन खिलाड़ियों को खोज कर अन्तराष्ट्रीय स्तर पर भारत देश के लिए पदक प्राप्त करना है।

difference between yoga and yoga sport-

योगासन को प्रतिस्पर्धी खेल के रूप में मान्यता प्रदान करने के बाद, खेल मंत्रालय द्वारा निम्नलिखित कदम उठाये जायेंगे :-

◆नए वर्ष में नई शुरुआत के तहत 2021 की शुरुआत में पायलट योगासन प्रतियोगिता “नेशनल इंडिविजुअल योगासन स्पोर्ट चैंपियनशिप (वर्चुअल मोड)” के नाम से होने वाली है।

योगासन खेल की प्रतियोगिताओं, कार्यक्रमों के वार्षिक कैलेंडर को लांच किया जायेगा। ताकि अधिक से अधिक खिलाड़ियों को तैयार किया जा सकें ।

◆योगासन चैम्पियनशिप के लिए स्वचालित स्कोरिंग प्रणाली का विकास। खिलाड़ियों में ओर बेहतर करने हेतु प्रेरणा प्राप्त होगी ।

◆रेफरी, कोच, निर्देशक और प्रतियोगिताओं के निर्णायकों के लिए कोर्स। ताकि विश्वस्तरीय स्ट्रक्चर तैयार किया जा सकें ।

◆ योगासन के खिलाड़ियों के लिए कोचिंग कैंप।जहां विश्व स्तरीय मानकों के साथ उन्हें ट्रेनिंग प्रदान की जाएगी ।

◆।यह योगासन एथलीटों के लिए एक कैरियर सुनिश्चित करेगा। जैसा क्रिकेट एवं फुटबॉल की लीग होती है उसी तरह यह लीग योग स्पोर्ट्स के खिलाड़ियों को कैरियर बनाने में मदद करेगी ।

◆योगासन खेल रूप में पेश किया जाएगा। जिसके कारण आने वाले समय में यह पूरी दुनिया मे स्पोर्ट्स के रूप में पहचाना जाए ।

“योगासन को खेल मंत्रालय से मान्यता मिलने से देश के युवाओं में योग के प्रति रुझान बढ़ेगा वही घर घर मे योग को उचित स्थान भी प्राप्त होगा।


स्कूल एवं कॉलेज में भी योग खिलाड़ियों की संख्या में बढ़ोतरी होगी। खेलो इंडिया एवं नेशनल गेम्स में भाग लेने वाले खिलाड़ियों को भी आगे भविष्य में नोकरी एवं अवार्ड में सुविधा मिलेगी। फेडरेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं महासचिव द्वारा इस ओर शानदार प्रयास किये जा रहे है। इस निर्णय के लिए भारत सरकार खेल मंत्रालय को बहुत बहुत आभार।”

डॉ अजय वक्तरिया(अध्यक्ष योग स्पोर्ट्स फेडरेशन इंडिया)-

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के प्रयासों के ही परिणाम स्वरूप अंतराष्ट्रीय योग दिवस International yoga day आज पूरी दुनिया एक साथ बनाती है । उन्ही की कुशल नीतियों का परिणाम है कि आज योग को प्रतिस्पर्धी खेलो sport के रूप में मान्यता मिली है ।


योगासन को खेल के रूप में मान्यता मिलना एक स्वर्णिम एवं ऐतिहासिक उपलब्धि है। भारत सरकार के इस फैसले का हम सभी स्वागत करते है।

पूरे देश मे योगासन को एक नई दिशा प्राप्त होगी। दूसरे खेलो की तरह योगासन भी एक प्रमुख खेल की तरह उभरेगा। अब योगासन के खिलाड़ियों को भी शासन द्वारा वित्तीय सहायता मिल सकेगी।

पूरे देशभर के योग साधकों को इस निर्णय पर हर्ष है।योग के खिलाड़ियों को ग्रेडेशन सर्टिफिकेट के साथ रोजगार के अवसर मिलेंगे ।योगासन को खेल का दर्जा मिलने से युवाओं के लिए योग कोच, योग इंस्ट्रक्टर, योग ट्रेनर के रूप में रोजगार के अवसर पैदा होंगे।


जिम्नास्टिक की तरह इसमें भी अच्छे खिलाड़ी उभर कर सामने आएंगे। साथ ही आर्चरी, वालीबॉल, सहित अन्य खेलों में ध्यान केंद्रित करने में भी यह सहायक होगा।उज्जैन योग संघ भी इस निर्णय का स्वागत करता है।

योग yoga को खेलो sport के रूप में मान्यता मिलने पर हमारे क्षेत्र के सभी जनप्रतिनिधियों सहित केंद्र एवं राज्य सरकार का हम आत्मीय आभार प्रकट करते है ।

आपके सवाल-

Is yoga a sport-

yes yoga a sport खेल मंत्रालय ने हाल ही में योगासन को प्रतिस्पर्धी खेल के रूप में औपचारिक तौर पर मान्यता दे दी हे.

yoga as sport in which country

saudi Arabian and india भारत के साथ साथ सऊदी अरब की सरकार ने भी योग को खेल के रूप में माना(मान्यता दी) हे.

value of yoga and sports-
  1. योग को खेलो इंडिया, राष्ट्रीय खेलों और अंतर्राष्ट्रीय खेल आयोजनों में खेल अनुशासन के रूप में पेश किया जाएगा। जिसके कारण आने वाले समय में यह पूरी दुनिया मे स्पोर्ट्स के रूप में पहचाना जाएगा ।

2. योगासन को प्रोत्साहित करने हेतु एक लीग भी शुरू की जाएगी।यह योगासन एथलीटों के लिए एक कैरियर सुनिश्चित करेगा।

3. क्रिकेट एवं फुटबॉल की लीग होती है उसी तरह यह लीग योग स्पोर्ट्स yoga sport के खिलाड़ियों को कैरियर बनाने में मदद करेगी

4. योगासन प्रतियोगिता “नेशनल इंडिविजुअल योगासन स्पोर्ट चैंपियनशिप (वर्चुअल मोड)” के नाम से होने वाली है।

योगाचार्य पं. मिलिंद्र त्रिपाठी
(M.Sc yoga therapy)
सचिव उज्जैन योग संघ

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top